IOC से बीते नवम्बर में BFI को किया भंग फिर भी राज्य स्तरीय मुक्केबाज़ी प्रतियोगिता करवाने पर दूसरे संघ ने जताया विरोध।

IOC से बीते नवम्बर में BFI को किया भंग फिर भी राज्य स्तरीय मुक्केबाज़ी प्रतियोगिता करवाने पर दूसरे संघ ने जताया विरोध।

*हितेश तिवारी ने GM को लिखा पत्र। कहा कर रहे मुक्केबाज़ों के साथ धोखा।*

बिलासपुर- BFI के छत्तीसगढ़ की कार्यकारिणी द्वारा राज्य स्तरीय मुक्केबाज़ी मुक़ाबला द.पू.म.रे. 27 जनवरी से होना हैं। BFI को नवम्बर माह में इंटरनेशनल ओलम्पिक कमेटी (IOC) ने भंग कर दिया हैं इसके बैनर तले वी देवराजन , लेस्टर स्मीथ और जूट रोड्रिक्स अवैध रूप से चंदा वसुली के लिए छत्तीसगढ़ राज्यस्तरीय मुक्केबाज़ी प्रतियोगिता करवाने जा रहे हैं।

हितेश तिवारी ने कहा कि जब ऊपर से कमेटी ने भंग किया हैं तो इनके खेल करवाने से छत्तीसगढ़ मुक्केबाज़ों के साथ धोखा हो रहा है एवं उनका जीवन अँधेरें की तरफ़ ले जाने की कोशिश की जा रही है इन सभी के द्वारा अगर किसी से कोई चंदा की माँग करता है तो वह चन्दा देने से पहले यह जान ले की छत्तीसगढ़ मुक्केबाज़ी संघ IABF से इसका कोई लेना देना नहीं।

चंदा वसूली रोकने GM को लिखा पत्र।

चंदा वसुली को रोकने के लिए हितेश तिवारी ने रेलवे के जी॰एम॰ (GM) को पत्र लिखकर यह बताया गया हैं की अधिकारी को अपने क्षेत्र में मुक्केबाज़ी प्रतियोगिता न करवाने दें नहीं तो रेल का भी भूमिका ऐसी संस्था के साथ संलग्न हो जाएगा।

आगे हितेश ने बताया कि जिसको इंटरनेशनल ओलम्पिक कमेटी भंग की BFI उस संस्था के बैनर तले खेल करवा कर नए प्रतिभावान खिलाड़ी की जीवन को अंधेरा करना वी . देवराजन , लेस्टर स्मीथ , जुट रोड्रिक्स इनका सम्बंध छत्तीसगढ़ मुक्केबाज़ी संघ IABF से नहीं हैं कोई भी किसी प्रकार अनुदान इनको न करें !

vandana