प्रदेश की राजनितिक दबाव के कारण बाबा सैय्यद इंसान अली शाह के अस्ताने में उटापटक से ग्रामीण एंव जायेरीनों मे आक्रोश है।

मस्तूरी -सीपत लूथरा जिला मुख्यालय से30कि,मी, की दूरी पर बाबा सैय्यद इंसान अली शाह लुतरा शरीफ बिलासपुर जिला अंतर्गत मुस्लिम समाज के मुक़द्दस दरगाह लुतरा शरीफ में आज मस्तूरी एसडीएम विरेंद्र लकड़ा ने असवैधानिक तरीके से मुतवल्ली खदिमान कमेटी को चार्ज दिला दिया है इस विसंगति पूर्ण कार्यवाही से स्थानीय लोगो में भरी आक्रोश देखा गया है लुतरा पंचायत में सभी पंच सरपंचो की मौजूदगी में लुतरा पंचायत भवन में एक बैठक आयोजित की गयी जिसमे सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया की एसडीएम की कार्यवाही में स्थानीय पंचायत को शामिल नहीं किया गया है बल्कि यह कहा जाए की सुचना तक नहीं दी गयी है इसमें पंचायत के अधिकारों का हनन है ज्ञातव्य हो की 21फरवरी को राज्य वक्फ बोर्ड ने पुराने खादिमान कमेटी को बहाल करते हुए एसडीएम मस्तूरी को चार्ज दिलाने का निर्देश दिया था यह इतना गोपनीय ढंग से दिया गया आदेश था की इसकी जानकारी बिलासपुर कलेक्टर को नहीं साथ ही ग्राम पंचायत लुतरा को खबर नहीं थी 22 फरवरी को एसडीएम वीरेंद्र लकड़ा ने तत्काल आदेश लुतरा भिजवा दिया और बिना विलम्ब के क़ानूनी प्रक्रिया का पालन किये ही नोटिश चस्पा करवा दिया शाम सात बजे नोटिश चस्पा किया गया और बिना इंतेजामिया कमेटी को बताये सदलबल पहुंच कर इंतेजामिया कमेटी के दफ्तर का ताला तोड़ दिया गया जबकि नोटिस में खादिमों कमेटी को बहाल किया गया है और वह दफ्तर इंतेजामिया कमेटी का है वही लुतरा शरीफ की दरगाह में नेताओं के हस्तक्षेप से गांव का माहौल ख़राब कर दिया है यहाँ यह बताना लाजमी होगा की आज प्रदेश के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू जिले के दौरे में है उस कार्यक्रम को छोड़ कर एसडीएम श्री लकड़ा चार्ज दिलवाने में मशगूल थे बहर हाल लुतरा की मुक़द्दस दरगाह में राजनितिक दबाव के कारण एसडीएम की इस कार्यवाही की निंदा की जा रही है स्थानीय लोगो और पंचायत ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से इसकी शिकायत करने का फैसला किया है

vandana