बिलासपुर – झूठा FIR समीरा पैकरा के द्वारा दर्ज कराने एवं राजनीतिक दबाव व सडयंत्र कर गलत शपथ पत्र देने वाले पतरस तिर्की के विरुद्ध अपराध दर्ज कराया ।

बिलासपुर झूठा FIR समीरा पैकरा के द्वारा दर्ज कराने एवं राजनीतिक दबाव व सडयंत्र कर गलत शपथ पत्र देने वाले पतरस तिर्की के विरुद्ध अपराध दर्ज कराया ।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के पार्टी सुप्रीमो एवं छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री माननीय श्री अजीत जोगी जी को बदनाम करने व झूठी FiR दर्ज कराने के मामले पर सुश्री समीरा पैकरा एवं दबाव में गलत शपथ पत्र देने वाले तहसीलदार पतरस तिर्की के विरुद्ध FIR दर्ज करवाने हेतु बिलासपुर संभागीय अध्यक्ष प्रशांत त्रिपाठी के निर्देश मे बिलासपुर लोकसभा अध्यक्ष प्रदीप कुर्रे के नेतृत्व में आज बिलासपुर के सरकंडा थाना मे ज्ञापन दिया ।

ज्ञात हो कि पतरस तिर्की द्वारा 4 सितंबर को अजीत जोगी के विरुद्ध झूठा शपथ पत्र देकर उनके विरुद्ध चल रहे जाति के मामले को प्रभावित करने का प्रयास पतरस तिर्की के द्वारा किया जा रहा है जिसके कारण उनके विरुद्ध आपराधिक मामला दर्ज होना चाहिए। पतरस तिर्की के द्वारा नायब तहसीलदार के पद पर रहते हुए 6 जून 1967 को और तहसीलदार रहते हुए 6 मार्च 1986 को अजीत जोगी को कंवर जाति का होने का जाति प्रमाणपत्र जारी किया गया था। इसके बाद शहडोल के पूर्व सांसद दलपत सिंह परस्ते की शिकायत की जांच के दौरान पतरस तिर्की के द्वारा वर्ष 2000 में न्यायिक मजिस्ट्रेट शहडोल में भी अजीत जोगी को कंवर जाति का प्रमाण पत्र जारी करने का बयान दिया था। पतरस तिर्की ने 6 मार्च 2002 में एक शपथ पत्र दिया था जिसमें लिखा था कि उनके द्वारा 6 जून 1967 को नायब तहसीलदार पेंड्रारोड के पद पर रहते हुए एवं 6 मार्च 1986 को तहसीलदार पेंड्रारोड के पद पर रहते हुए उन्होंने अजीत जोगी को उस समय के प्रचलित नियमों के आधार पर जांच पड़ताल करने के बाद कंवर जाति का जाति प्रमाण पत्र जारी किया था।
इसके बावजूद पतरस तिर्की ने अजीत जोगी को नुकसान पहुंचाने के इरादे से 4 सितंबर को अजीत जोगी के खिलाफ शपथ पत्र दिया है कि वर्ष 1967 में पेंड्रारोड में उप तहसील नहीं था और वे वहां नायब तहसीलदार नहीं थे और उन्होंने शपथ पत्र में यह भी लिखा है कि 1986 में जारी किये गये जाति प्रमाण पत्र में भी उनके हस्ताक्षर नहीं हैं जबकि उपरोक्त दोनों जाति प्रमाण पत्र के समर्थन में पतरस तिर्की ने पहले ही न्यायिक मजिस्ट्रेट की जांच में बयान भी दिया था और शपथ पत्र भी दिया था इसलिये अलग-अलग शपथ पत्र देकर अजीत जोगी को नुकसान पहुंचाने का जो प्रयास किया जा रहा है वो अपराध की श्रेणी में आता है इससे हम सभी की भावना को आहत हुई है
अतः आपसे अनुरोध है कि श्री पतरस तिर्की जी के ऊपर अपराध पंजीबद्ध कर उचित कार्यवाही करें ।

इस मौके पर लोकसभा अध्यक्ष प्रदीप कुर्रे , बिलासपुर विधानसभा अध्यक्ष आकाश चौबे
मिडिया प्रभारी निशांत तिवारी ,संभागीय प्रवक्ता दुर्गेश साहू , राहुल मिश्र, ,लोमस साहू ,सोनू कश्यप ,रूपेश चौबे , रोमिल मौर्या, हर्ष उरांव, शुभम सिंह अभिषेक नामदेव, बबलू आनंद, अभिषेक दिवाकर ,कमलेश वर्मा सैलु साहू अभिषेक साहू,आशु ठाकुर ,विशाल सूर्यवंशी भोला सूर्यवंशी,

vandana