बिलासपुर-समाज कल्याण का दृष्टि बाधित शिक्षक अधिकारी पर भारी

समाज कल्याण का दृष्टि बाधित शिक्षक अधिकारी पर भारी
बिलासपुर :- समाज कल्याण विभाग के जिला पुनर्वास में पदस्थ एक विशेष शिक्षक  दृष्टिबाधित छात्रों  को पढ़ाने के लिए
सरकारी नौकरी पाया है जिस पद मे पदस्थ है जिला पुनर्वास में ऐसा कोई पद ही नहीं है इसी आधार पर एक शिक्षक का अटैचमेंट  संचनालय नहीं हुआ और  6 साल में यह शिक्षक बिलासपुर रायपुर खेल रहा है रोज कर्तव्य स्थल पर उपस्थिति ना होना इस पिक्चर की विशेषता है वेतन कहीं से काम कहीं का दाम एनजीओ से. सूत्रों की माने तो अपने ही विभागीय साथियों के खिलाफ शिकायत करवा देना इसका खेल है पहले शिकायत कर आना किसी एनजीओ का काम खराब करना बाद में मध्यस्थता कर लंबी रकम मांगना इस दृष्टिबाधित शिक्षक की विशेषता है यह बात समझ के परे है संचनालय  में दृष्टिबाधित शिक्षक से जो काम लिया जा रहा है वह उसके पद के अनुरूप नहीं है साधारण क्लर्क वाला काम विशेष शिक्षक से लिया जाना संदेह पैदा करता है आखिर इस बाबू के पीछे अधिकारी का हाथ है जिसने नियम के विरुद्ध अटैचमेंट करवाया कुछ का दावा तो यह भी है कि यह विशेष शिक्षक की विभाग के खिलाफ सूचना के अधिकार का उपयोग  करवाता है और फिर उत्तरदाई अधिकारियों से अपनी मर्जी मुताबिक काम लेता है…
vandana